Saturday, November 11, 2006

खुद से बाते

Found using HindiKalam (www.hindikalam.com) to be an amazingly simple site for translating text from english script to hindi on a real time basis. It has a good WYSIWYG interface.

Just tried it on something that I scribbed last night.......


ख्वाब आते है रोज़ एक दस्तक देते है
धीरे से कुछ उम्मीदो का वास्ता देते
और फिर चुप-चाप से मायूस हो कर लौट जाते है

कभी मन बेचैन हो उठता है
अपने आप से, और कभी हर उस शै से लड़ता है
जिस्से मुझे सहरा मिलता है

लगता है जैसे
मैं खुद से लड़ रहा हूँ
और शायद थक भी चुका हूँ

चलते रेहने की नसीहत देना
और हसते रेहना
इतना मुशकिल भी नही जीना

फिर क्यूँ मैं हर ख्वाब को झूठलाता हूँ
कदमो के निशान मिटाता हूँ
और अपने मे सिमट जाता हूँ

As I was in the process of translating, just realised that how much I have been out of touch with writing in Hindi. Long live the spell-check feature.....



Related Articles by Categories


1 comments:

  • alpana verma said...
     

    But still you have a lot spelling mistakes!never mind.it is nice to see youngesters of today have interest in hindi poetry.I read ur poems and blog thoda kachchapan hai-kosheesh jaaraee rakheN--keep writing and reading-best wishes-alpana verma

Grab this Widget ~ Blogger Accessories